एक अभिनेत्री, जो बेबाकी से बात करती है. बड़े पर्दे पर बोल्ड सीन देने में असहज महसूस नहीं करती. वो अचानक से एक दिन बॉलीवुड को गुनाह का रास्ता बताते हुए ऐलान कर देती है कि उसका अब बॉलीवुड से कोई संबंध नहीं है. इतना ही नहीं बल्कि वो अपने इंस्टाग्राम से अपनी पहले की सभी तस्वीरें हटा लेती है. हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड अभिनेत्री सना खान की. सना ने सलमान खान की ‘जय हो’, अक्षय की ‘टॉयलेट एक प्रेम कथा’ और जॉन इब्राहिम की ‘गोल’ के साथ-साथ दर्जनों साउथ की फ़िल्मों में काम किया. फिर अचानक से उन्होंने बॉलीवुड को पूरी तरह से छोड़ने की बात कह कर सबको हैरान कर दिया.

ऐसी क्या वजह होती होगी कि इंसान कई साल के बनाए अपने करियर को एकदम से अलविदा कह देता है? सना पहली नहीं हैं, जिन्होंने इस तरह से बॉलीवुड को अलविदा कहा है. इनसे पहले भी कई बॉलीवुड को अपने करियर की बुलंदी पर छोड़ कर चले गए:

कुमार गौरव हिंदी सिनेमा के जाने माने अभिनेता रहे राजेंद्र कुमार के पुत्र हैं. इनकी शादी संजय दत्त की बहन नम्रता दत्त से हुई. लव स्टोरी जैसी हिट फिल्म से अपने करियर की शुरुआत करने वाले कुमार गौरव ने तेरी कसम, नाम और स्टार जैसी हिट फिल्में दीं. टेलीविजन फिल्म जनम के लिए उन्हें नेशनल अवार्ड के लिए नामांकित किया गया. इन्होंने अपने करियर में कुल 33 फिल्में कीं. करियर अच्छा चला फिर कुछ उतार चढ़ाव आए.

विनोद खन्ना भले ही इस दुनिया में ना रहे हों लेकिन अपनी फिल्मों के माध्यम से उनकी अदाकारी आज भी लोगों के ज़हन में ज़िंदा है. उनके पिता उनके फिल्मों में काम करने के खिलाफ थे लेकिन फिर भी वह फिल्मी दुनिया में आए. एक खलनायक के रूप में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत करने वाले विनोद खन्ना ने अपने अभिनय के दम पर सफलता प्राप्त की. एक समय ऐसा था जब अमिताभ से ज़्यादा लोकप्रिय थे विनोद खन्ना

अनीता अग्रवाल उर्फ अनु अग्रवाल नाम से शायद बहुत से लोग परिचित ना हों लेकिन जब अशिक़ी गर्ल कहा जाए तब हर किसी को इस नाम और चेहरे की पहचान हो जाएगी. जी हां हम बात कर रहे हैं पुरानी वाली अशिक़ी फ़िल्म की अभिनेत्री अनु अग्रवाल की. अपनी पहली अशिक़ी से लोगों के दिलों पर छा जाने वाली अनु का जीवन एकदम बेफ़िक्रों वाला था. वह पब्लिक में खड़ी हो कर सिगरेट पीती थीं. हालांकि फिल्में ज़्यादा नहीं मिलीं मगर फिल्मों से नाता नहीं टूटा था.

इस लड़की ने छोटी सी उम्र में ही अपनी काबिलियत दुनिया को दिखा दी. दंगल में दंगल गर्ल और स्काई इज़ पिंक में एक ज़िंदादिल कैंसर पेशेंट के किरदार में इस लड़की ने सबका दिल जीत लिया. कम उम्र में ही इन्हें सीक्रेट सुपर स्टार के रूप में ऐसी फिल्म मिली जहां ये खुद मेन किरदार में थीं. सही मायनों में अभी जायरा का करियर ठीक से शुरू भी नहीं हुआ था कि उन्होंने एक दिन अचानक एक सोशल मीडिया पोस्ट कर के सबको हैरान कर दिया. ज़ायरा ने अपने धर्म के नाम पर बॉलीवुड को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया.

सोफ़िया एक प्रसिद्ध मॉडल रही हैं. सितंबर 2013 में एफ एच एम मैगज़ीन ने दुनिया की सबसे ज़्यादा कामुक औरतों की सूची तैयार की थी. इस सूची में सोफिया 81वें पायदान पर थीं. इसके अलावा सोफिया बिग बॉस के 7वें सीज़न में भी नज़र आ चुकी हैं. इन्होंने कुछ एक फिल्मों में भी काम किया था.

बरखा मदान टीवी से लेकर फिल्मों तक में अभिनय कर चुकी हैं. इसके साथ ही वो दो फिल्मों की प्रोड्यूसर भी रह चुकी हैं. उनकी ज़िंदगी में ऐसी कोई दिक्कत नहीं थी जिससे उनका फिल्मी दुनिया से मोह भंग हो जाता लेकिन इसके बावजूद उन्होंने बौद्ध धर्म अपनाने का मन बनाया और एक नन बन गईं.

आयशा 5 साल की उम्र में पहली बार कॉम्पलैन के एड में नज़र आईं, 15 की उम्र में एक मुख्य अभिनेत्री के तौर पर पहली फिल्म की. वांटेड, नो स्मोकिंग और संडे जैसी फिल्मों में नामी फिल्मी सितारों के साथ काम करने वाली इस अभिनेत्री ने महज 23 साल की उम्र में अभिनय और बॉलीवुड को अलविदा कह दिया.

मयूरी कांगो 90 के दशक की जानीमानी अभिनेत्री रही हैं. उनकी पहली ही फिल्म पापा कहते हैं बॉक्स ऑफिस पर हिट रही थी. इसके अलावा उन्होंने बेताबी, होगी प्यार की जीत, पापा दी ग्रेट तथा बादल जैसी फिल्मों में भी अभिनय किया है. मयूरी नेशनल अवार्ड विनिंग फिल्म नसीम में भी अभिनय कर चुकी हैं.

हरमन बावेजा ने बड़ी उम्मीदों के साथ हिंदी फिल्म जगत में कदम रखा था लेकिन एक के बाद एक लगातार 4 फिल्में फ्लॉप होने के बाद शायद वह आगे बढ़ने का हौसला ना जुटा सके. जानेमाने फिल्म निर्देशक हैरी बावेजा के पुत्र होने के बावजूद उन्हें फिल्म इंडस्ट्री में कोई खास पहचान ना मिल सकी.